अयोध्या की 84 कोसी परिक्रमा मार्ग अब बनेगा नेशनल हाइवे, नितिन गडकरी बोले- इससे पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

चौरासी कोसी मार्ग की बात करें तो अभी के समय में इस मार्ग की हालत बहुत खराब है. परिक्रमा करने वाले लोगों को नाव से नदी पार करना पड़ती है.

अयोध्या (Ayodhya) को केंद्र सरकार ने एक और तोहफा दिया है. केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बुधवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि अयोध्या में करीब 80 किलोमीटर की रिंग रोड और 275 किलोमीटर की अयोध्या चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग (84 Koshi Parikrama Marg) जल्द ही नेशनल हाइवे बन जाएंगे. इस रोड़ के नेशनल हाइवे बन जाने के बाद अयोध्या आने वाले पर्यटक 84 कोसी परिक्रमा फोरलेन मार्ग से कर सकेंगे.

बता दें कि चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग पांच जिलों में 275.35 किलोमीटर तक फैला हुआ है, इसमें अयोध्या, अंबेडकर नगर, बाराबंकी समेत गोंडा जिला भी आता है.

इस मार्ग की हालत है बहुत खराब

चौरासी कोसी मार्ग की बात करें तो अभी के समय में इस मार्ग की हालत बहुत खराब है. परिक्रमा करने वाले लोगों को नाव से नदी पार करना पड़ती है. 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर अलियाबाद, नियामत गंज, बारिन बाग, सहित तमाम कस्बे आते हैं. नेशनल हाईवे बनने से गोंडा, रायबरेली, अयोध्या, सुलतानपुर के लोग सीधे जुड़ जाएंगे.

इन पांच जिलों से गुजरती है चौरासी कोसी परिक्रमा

चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग राज्य के पांच जिलों से होकर गुजरता है. यह मार्ग अयोध्या, अंबेडकर नगर से पटरंगा होकर बाराबंकी के अलियाबाद, नियामतगंज से बारिनबाग होकर घाघरा सरयू तट मुर्तियनघाट से आगे गोंडा जिले में चरसड़ी तटबंध और गोंडा में राजापुर, बाबा सुमिरनदास कुटी होकर ऋषि नरहरदास की कुटी होते हुए पकरीबाद गोहानी से रामनगर चौराहा पहुंचता है. गोंडा जिले के तुलसीपुर को जोड़ते हुए कल्यानपुर से आगे बढ़कर जिला बस्ती में प्रवेश कर जाती है.

जहां मखौड़ा धाम, नेदुला कोहराया होकर केनौना छावनी होते हुए जानकी रोड़ से विश्वेश्वरगंज के बाद फिर अयोध्या पहुंचती है. जिले के नदी उस पार के गांव माझा रायपुर, परसावल, कमियार, बांसगांव, असवा, टिकरी, ढेमा के लोगों को आने जाने के लिए नया मार्ग मिल जाएगा.

सीएम योगी ने किया ट्वीट

84 कोसी परिक्रमा मार्ग को नेशलन हाइवे घोषित होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए कहा है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में ‘चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग’ को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने के लिए अधिसूचना जारी होना अयोध्या के पुरातन गौरव की पुनर्स्थापना के लिए बढ़ाया गया बड़ा कदम है. यह आध्यात्मिक पर्यटन क्षेत्र को संबल प्रदान करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *