कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच 31 जनवरी तक 1 से 12वीं तक के स्कूल बंद, शिवराज सरकार ने लिया बड़ा फैसला

नए निर्देशों के मुताबिक, हॉल के अंदर 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ कार्यक्रम किए जा सकते हैं. बड़ी रैली, बड़ी सभाओं पर पूरी तरह से प्रतिबंध होगा. खेल गतिविधियां स्टेडियम की क्षमता के हिसाब से 50 प्रतिशत संख्या के साथ बिना दर्शकों के आयोजित की जा सकेगी.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Corona Case) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Chauhan) ने शुक्रवार को हुई क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में कुछ प्रतिबंधात्मक निर्देश दिए हैं. सीएम ने कक्षा पहली से लेकर 12वीं तक स्कूलों (Mp School Close) को 31 जनवरी तक बंद करने का फैसला लिया है. वहीं, सभी प्रकार के मेले या धार्मिक आयोजनों पर भी रोक लगा दी गई है. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि धार्मिक स्थल खुले रहेंगे और कोशिश की जाएगी कि आर्थिक गतिविधियां प्रभावित ना हो और ना ही बंद हो. इसी के साथ जुलूस, रैलियों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.

नए निर्देशों के मुताबिक, हॉल के अंदर 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ कार्यक्रम किए जा सकते हैं. बड़ी रैली, बड़ी सभाओं पर पूरी तरह से प्रतिबंध होगा. खेल गतिविधियां स्टेडियम की क्षमता के हिसाब से 50 प्रतिशत संख्या के साथ बिना दर्शकों के आयोजित की जा सकेगी. प्री बोर्ड की परीक्षाएं टेक होम एग्जाम के रूप में ली जाएगी. 20 जनवरी से ये एक्जाम होने थे. प्रदेश में लगा नाइट कर्फ्यू यथावत जारी रहेगा.

बता दें कि स्कूलों को बंद करने की मांग लंबे समय से की जा रही थी. जिस तरह से लगातार संक्रमित मरीज सामने आ रहे थे. ऐसी स्थिति में माना जा रहा था कि जल्द स्कूलों को बंद कर दिया जाएगा. क्राइसिस मैनेजमेंट कमिटी की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के तीसरे लहर में केस और अधिक तेजी से बढ़ेंगे. पीक पर पहुंचने के साथ ही रोजाना मामले में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिलेगी. जिसको देखते हुए 15 दिन तक स्कूलों को बंद रखने का फैसला किया गया है.

बच्चों भी तेजी से हो रहे हैं संक्रमित

एमपी में गुरुवार को 4031 मरीज मिले हैं. साथ ही तीन लोगों की मौत भी हो गई. इस बार कोविड युवाओं पर बच्चों पर भी अटैक कर रहा है. बुधवार को प्रदेश में 40 से ज्यादा बच्चे कोरोना से संक्रमित मिले थे. दो दिनों के अंदर 22 साल दो लोगों की मौत हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *