एनओसी के बाद निरीक्षण करा रहा प्राविधिक शिक्षा परिषद …? 14 जुलाई को 850 फॉर्मेसी कॉलेजों को दी गई थी एनओसी, अब होंगी वीडियो और फोटोग्राफी

प्राविधिक शिक्षा परिषद में उल्टी गंगा बहती नज़र आ रही है। फॉर्मेसी कॉलेजों को एनओसी देने के बाद 14 अगस्त तक प्रदेश के 850 फॉर्मेसी कॉलेजों का निरीक्षण किया जाएगा। निरीक्षण में उन तथ्यों की जांच की जाएगी जिनके आधार पर 14 जुलाई को दिए गए नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (एनओसी) प्रमाण पत्र जारी किया गया है। यह वह संस्थान हैं, जिन्होंने फॉर्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) में डिप्लोमा इन फॉर्मेसी कोर्स (डीफार्मा) चलाने के लिए आवेदन किया था। पहले विभाग ने बिना निरीक्षण किए एनओसी जारी की, उसके बाद अब स्थलीय परीक्षण की औपचारिकता की जा रही है।

भैतिकी सत्यापन किया जाएगा

प्राविधिक शिक्षा परिषद के संयुक्त सचिव अनूप कुमार पटेल ने पत्र जारी किया है। जिसमें निर्देशित किया गया है, कि जिन संस्थाओं को एनओसी जारी की गई है, उनका स्थलीय निरीक्षण और अभिलेखीय सत्यापन, परिषद की निरीक्षण समिति करेगी। निरीक्षण की तारीख भी संस्था को दी जाएगी। निरीक्षण में भवन की साज सज्जा, उपकरण, लैब और एनओसी लेते समय किए गए दावों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा।

फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी होगी

उन्होंने बताया कि निरीक्षण में फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की व्यवस्था भी संस्था कराएगी। इसके अलावा संस्था की ओर से निरीक्षण के समय प्रस्तुत किए जाने वाले अभिलेखों की सूची भी जारी कर दी गई है। पत्र में इस बात का जिक्र नहीं है कि एनओसी लेते समय किए गए दावों का सत्यापन न होने पर क्या कार्रवाई होगी। सूत्र बताते हैं कि यह निरीक्षण एक औपचारिकता है। बताते चलें कि एनओसी देने में अनियमितता बरतने पर प्राविधिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार और प्राविधिक शिक्षा बोर्ड के सचिव सुनील सोनकर को पद से हटाया जा चुका है।

8 से 10 तक करें आवेदन

प्राविधिक शिक्षा परिषद के सचिव एफआर खान ने बताया कि समय कम होने की वजह से सशर्त एनओसी जारी की गई थी। टीम मौके पर जाकर निरीक्षण करेगी। यदि खामियां पाई जाती है तो कार्रवाई होगी। उन्होंने बताया कि यदि कोई संस्था डीफॉर्मा कोर्स संचालित करना चाहती है और आवेदन करने से रह गई है तो वह 8 से 10 अगस्त तक लखनऊ स्थित दफ्तर में आकर आवेदन कर सकती है। परिषद के पोर्टल पर भी आवेदन की सुविधा रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *